#2

मैंने ईश्वर से शक्ति माँगी थी, ताकि  मैं कुछ हासिल कर सकूँ

उसने मुझे कमजोर बनाया, ताकि मैं दूसरो की सेवा अदब से करूँ।

मैंने सेहत मांगी थी, ताकि मैं बड़े काम कर सकूँ

मुझे दुर्बलता मिली, ताकी मैं अच्छे काम कर सकूँ।

मैंने धन दौलत मांगी थी, ताकि मैं खुश रह सकूँ

मुझे गरीबी मिली, ताकि मैं बुद्धिमान बन सकूँ ।

मैंने रूतबा मांगा था, ताकि लोग मुझे सराहें

मुझे असहाय बनाया, ताकि मैं ईश्वर की जरूरत महसूस करूँ।

मैंने सब चीजे मांगी थी, ताकि मेरा जीवन खुशहाल हो

मुझे सिर्फ जीवन मिला, ताकि मैं हर चीज से खुशी पा सकूँ।

मैंने जो भी मांगा नही मिला – मगर वह सब कुछ मिला जिसकी

आशा की थी

मेरा ऐसा करने के वावजूद, मेरी अनकही प्राथनाएं सुनी गई।

मुझ पर सब इंसानो से ज्यदा कृपा हुई।

Posted in #   

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *