बिजली बिल के मामले में कही आप भी तो ऐसी गलती नही करते है?

क्या आपने कभी महसूस किया है कि आपने अपनी एक छोटी सी गलती की वजह से अपने बिजली के बिल की राशि का भुगतान ज्यदा तो नही कर दिया। जरूरी नही है कि ऐसा सभी के  साथ हो लेकिन ऐसा आपके साथ भी हो सकता है यदि आप भी यह छोटी सी गलति करते है तो। क्या आपने कभी बिजली का बिल मिलने पर बिल में दी गई रीडिंग और मीटर में चल रही रीडिंग का मिलान किया है यदि आप ऐसा नही करते तो हो सकता है कि आप अपने बिजली के बिल की राशि का भुगतान ज्यदा कर दिया हो। यदि आप चाहते है कि आपके साथ ऐसी गलती न हो तो यह पोस्ट पूरा अवश्य पढे। ऐसा तभी होता है जब आपको एवरेज बिल दिया गया होता है। तथा आप आपने बिल की रीडिंग तथा मीटर मे चल रही रीडिंग का मिलान नही किया होता है। एवरेज बिल तब दिया जाता है जब आपका मीटर बंद या खराब रहता है लेकिन आपको बिजली निरंतर मिलती रहती है। एवरेज बिल मे हमेशा वर्तमान रीडिंग तथा पिछली रीडिंग एक बराबर होगी तथा आपको कुछ यूनिट का बिल दिया गया होगा। नीचे एक चित्र दिया गया है जिसमे कुछ एवरेज दिया गया है। यदि आप चित्र मे देखेंगे तो आपको पता चलेगा कि उपभोक्ता को माह अप्रेल-19 से माह जुलाई-19 तक चार वार एवरेज बिल दिया गया है। जिसमे से माह अप्रेल-19 मई-19 में 74 यूनिट का एवरेज दिया गया है तथा माह जून-19 जुलाई-19 में 65 यूनिट का एवरेज बिल दिया गया है। एवरेज बिल में वर्तमान रीडिंग तथा पिछली बराबर होती है, जैसा कि चित्र मे 3661 यूनिट अप्रेल-19 से जुलाई-19 तक दिखाया गया है।

यदि मीटर सच मे खराब था तो उपभोक्ता को मीटर बदलवाना चाहिये था किंतु उपभोक्ता ने मीटर पांच माह तक नही बदलवाया यदि मीटर सही था तो उपभोक्ता को बिल मे रीडिंग सुधरवाना चाहिये था किंतु उपभोक्ता ने न तो रीडिंग सुधरवाई न ही मीटर बदलवाया। यदि यहा गौर से देखा जाए तो पता चलेगा कि उपभोक्ता को चार माह एवरेज बिल देने के बाद पाचवे माह मे 88 यूनिट का बिल दिया गया है जो कि बिना एवरेज का है क्योकि दिखाये गये चित्र के अनुसार जुलाई -19 से अगस्त-19 मे उपभोक्ता का मीटर 88 यूनिट खपत किया है। यदि जुलाई मे मीटर सही था तो उसके पहले  के बिल एवरेज क्यो, ऐसा इसलिये क्योकि आपने वह छोटी सी गलती की है कि अपने मीटर की रीडिंग का मिलान दिये गये बिल से नही किया। हालाकि इसमे गलती मीटर रीडर की है किंतु जिस प्रकार आप दूध खरीदते समय उसमे पानी की मात्रा, फल खरीदते समय उसका सड़ा गलापन देखते है उसी प्रकार बिल मिलते समय बिल मे दी गई रीडिंग तथा मीटर में चल रही रीडिंग का मिलान भी आपको ही करना चाहिये। यदि आपका बिजली का मीटर सच में खराब है तो उसे बदलने के लिये कार्यालय मे आवेदन दीजिये। यदि आपका मीटर सही है और आपको एवरेज बिल दिया गया है तो अपने बिल को कार्यालय मे जाकर सुधरवाये तथा बिल सुधरवाते समय कार्यालय में बिल सुधरने के लिये आवेदन अवश्य दे एवं आवेदन की पावती भी उनसे प्राप्त करे तथा उसे सम्भाल कर अवश्य रखे। मैने देखा है कि कुछ लोग अपने बिल का भुगतान करने के बाद उसे कही भी फेक देते है जो कि नही करना चाहिये। बिल आपका है आप उसे हमेशा सम्भाल कर रखे क्योकि क्या पता उस बिल कि आपको कब जरूरत पड़े और उस समय आपके मन मे सिर्फ यही ख्याल होगा कि कश मैंने उसे सम्भाल कर रखा होता। अंत मे मै सिर्फ इतना ही कहूंगा कि अपने बिजली के बिल का भुगतान हर माह समय पर करे हर माह समय पर बिल के भुगतान करने से न सिर्फ आपका बिल का भुगतान होगा बल्कि आपको उस पर लगने वाले ब्याज से भी राहत मिलेगा। यदि आपको मेरा यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो इस जानकारी को अपने परिजनो तथा दोस्तो को भी अवश्य शेयर करे।


    

Author: admin

6 thoughts on “बिजली बिल के मामले में कही आप भी तो ऐसी गलती नही करते है?

  1. I think everything posted was very logical.
    However, what about this? suppose you were to create a
    awesome title? I ain’t saying your content
    isn’t good, but suppose you added a post title that grabbed people’s attention? I mean बिजली
    बिल के मामले में कही आप भी तो ऐसी गलती नही करते है?
    – WW BLOG is kinda boring. You could peek at Yahoo’s front page and watch
    how they write news headlines to grab viewers to click. You might
    try adding a video or a picture or two to grab readers interested about what you’ve written. Just my opinion, it
    would bring your posts a little bit more interesting.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *