घर का हिसाब किताब

हमारा घर हो या ऑफिस उसका एक रिकॉर्ड होता है, जिसे मेंटेन करना अति आवश्यक होता है। हमारा घर भी एक ऑफिस की तरह होता है। जिस प्रकार एक ऑफिस को अच्छे से चलाने के लिए उसका रिकॉर्ड मेंटेन करना जरूरी होता है उसी तरह हमारे घर के रिकॉर्ड को मेंटेन करना जरूरी होता है। किसी ऑफिस को चलाने के लिए उसके रिकॉर्ड मेंटेन की व्यवस्था की जाती है जैसे कि कार्य के हिसाब से फाइलों का निर्माण , रजिस्टर की व्यवस्था, हिसाब किताब की व्यवस्था आदि लेकिन मेने अक्सर देखा है कि किसी ऑफिस के मुकाबले घर पर ऐसी व्यवस्था न के बराबर की जाती है। जिससे हमें घर के कुछ कार्यो में समस्या पैदा होती है। किसी रिकार्ड को मेंटेन करने के लिए उसे लिखा जाता है एवं उसे व्यवस्थित रूप से रखा जाता है ताकि जब भविष्य में उसकी आवश्यकता हो तो उनका उपयोग किया जा सके। बिजली का बिल , नल का बिल, गैस का बिल, जीवन बीमा की किस्त तथा ऐसे बहुत सारे बिल होंगे जिनका भुगतान आपको प्रत्येक माह में करना होता है और आप उनका भुगतान भी प्रत्येक माह करते है किंतु आपने उनकी रशीदो को रखने की क्या व्यवस्था  की है क्या आप उन्हें भुगतान करने के बाद घर के किसी कोने में रख देते है या उन्हें किसी फ़ाइल में रखते है या फिर उनका भुगतान करने के बाद किसी रजिस्टर में लिखते है। आप उन्हें जिस तरह से भी रखते हो वो आपके रिकॉर्ड को मेंटेन करने का तरीका है जो कि जितना अच्छा होगा आपके लिए भी परेशानी से बचने के लिए उतना ही अच्छा होगा। इनके अलावा जब भी आप कोई शॉपिंग करते है तो उनकी रशीद लेते है या नही और यदि रशीद लेते है तो उन्हें किस प्रकार सम्भालकर रखते है। मैने बहुत से ऑफिस में लोगो को उस ऑफिस के कर्मचारी से यह कहते देखा है कि मैंने फलाने माह का भुगतान किया था लेकिन हमारे नए बिल में उसकी राशि घट कर नही आई है जब उस ऑफिस का कर्मचारी उस व्यक्ति से उस माह के भुगतान की रशीद मांगता है तो उस व्यक्ति के पास उस माह की रशीद गुम हो चुकी होती है। ऐसा सिर्फ इसलिए होता है क्यों कि वह अपने घर के रिकॉर्ड का मेंटेन नही करता था। मैंने एक ऑफिस में एक कर्मचारी को एक व्यक्ति को यह कहते सुना था कि युद्ध लड़ने आये हो और हथियार तो लाये ही नही। जिसका मतलब यह है कि हमे किसी ऑफिस में किसी कार्य के लिए जाना हो तो उससे संबंधित दस्तावेज हमे अपने साथ वहां लेकर जाना चाहिए और वह दस्तावेज हम अपने साथ कब लेकर जा सकते है जब वह हमारे पास होंगे। इसलिए हमारे लिए आवश्यक है कि हम अपने घर के रिकॉर्ड को मेंटेन कर कर रखे। रिकॉर्ड मेंटेन करते रहने के बहुत सारे फायदे है इससे न सिर्फ आपकी परेशानियां कम होंगी बल्कि बहुत से फायदे भी होंगे। जरा आप सोचिये आपके साथ कोई घटना घटती है और आपको उस दिन की दिनांक चाहिए आप क्या करेंगे लेकिन यदि उसी दिन आपने कोई भुगतान या ऐसा कोई कार्य भी किया हो जिसका आपने रिकॉर्ड मेंटेन किया है तो आप आसानी से वह दिनांक ढूंढ सकते है। हालांकि कोई घटना हो या कोइ खास बात को अच्छी तरह से याद करने के लिए डायरी लिखना चाहिए। इससे न सिर्फ आप किसी घटना को याद कर पाएंगे बल्कि आप अपनी पुरानी यादों को  भी ताजा कर पाएंगे। प्रत्येक व्यक्ति अपने दैनिक जीवन का एक तिहाई हिस्से से अधिक अपने आर्थिक कमाई के लिए देता है जिसमे से कुछ लोग अपने ऑफिस में रिकॉर्ड मेंटेन करते है तथा वे भली भांति रिकॉर्ड मेंटेन के महत्व को समझते है। हमारे पास अपने घर में 100 प्रतिशत में से 20 प्रतिशत का रिकॉर्ड ऐसा होगा हो हमारे 80 प्रतिशत के रिकॉर्ड को प्रभावित करता होगा। अतः हमें अपने घर के उस 20 प्रतिशत के रिकॉर्ड को सही तरह से मेंटेन करने की आवश्यकता होती है। जब आप यह सोचेंगे कि हम अपने घर के रिकॉर्ड को मेंटेन कैसे करे तो हो सकता है कि आप थोड़ा परेसान हो किन्तु जब आप अच्छे से इस बारे में विचार करेंगे तब आपको इसकी अहमियत समझ मे आयेगी, हो सकता है घर के रिकॉर्ड मेंटेन के लिए आपको कुछ खर्च भी करना पड़ सकता है जो कि आपको फिजूल लग सकता है। जिसे आप फिजूल का खर्च समझ रहै है उसे करने के बाद आप समझेंगे की आपने कितना समझदारी भरा कार्य किया है। फिर भी अंत मे मैं इतना कहना चाहूंगा कि मेरा यह पोस्ट आपलोगो को कैसा लगा तथा कमेंट के माध्यम से रिकॉर्ड मेंटेन के बारे में आप हमें अपना सुझाव दे तथा यह भी बताये की हम अपना रिकॉर्ड किस तरह से मेंटेन कर सकते है।

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *