समय नियोजन-टाइम मैनेजमेंट


यदि आपको लगता है कि आपके पास समय नहि है या आपके हाथ समय कब निकल जाता है पता हि नही चलता जिस कारण आपका समय बहुत बर्बाद हो जाता है तो यह पोस्ट आपके लिये ही है। आप अपना समय कैसे बर्बाद करते है कभी सोचा है यदि हा तो अच्छी बात है नहि तो आप ऐसा कीजिये कि जब आप सुबह उठते है तो उठने के हर एक घंटे के बाद २ मिनिट आँख बन्द करके सोचिये की आपने उस एक घंटे में क्या किया। इस प्रकार आप हर घंटे के अंत में २ मिनिट यह सोचने में दीजिये की आपने पिछले एक घंटे मे क्या किया जब आप ऐसा करेंगे तो  आपको मालुम पडेगा की आप अपना कितना समय बर्बाद करते। यदि हमे समय का सही उपयोग करना है तो हमे यह सीखने की जरूरत है कि हम अपने समय का प्रबंधन कैसे करे। इश्वर ने सभी को एक समान समय दिया है जिसका सही से प्रबंधन करके व्यक्ति सफलता को प्राप्त करता है। यदि हम अपने आप को २ मिनिट की तकलीफ दे तो भी हमारा समय बचेगा जी हा जिस कार्य को समाप्त करने मे हमे २ मिनिट लगता है हमे उस कार्य को तुरंत कर लेना चाहिये क्योकि ऐसे कार्य यदि हम तुरंत नही करते तो हमे बाद में समस्या होती है। कभी‌‌-कभी क्या होता है की हमारे पास काम तो होता है लेकिन हम उसे कर नही पाते है जिसका करण यह होता है की हमे सही समय पर वह कार्य याद नही आते है एसे मे हमे आलर्म का उपयोग करना चाहिये। समय का सही उपयोग तब होता है जब हमे यह पता होता है कि हमे कौन कौन से कार्य करने है। क्योकि हमारे पास कार्य तो होते है लेकिन हमे यह ध्यान नही आता कि हमे क्या क्या कार्य करना है कुछ कार्य एसे होते है जो हमे पता होता है कि इसे कल करना है उसके लिये क्या करे कि रात को सोते समय एक पेपर या डायरी या फिर अपने स्मार्ट फोन मे उन कार्यो की एक लिस्ट बना ले और अगले दिन उन कार्यो को लिस्ट से देख कर करने मे असानी होगी । यदि हमे समय का अमीर बनना है तो हमे समय का प्रबंधन करते आना चाहिये।  हम यदि अपने चारो ओर नजर डाले तो हमे पता चलेगा कि सभी सफल व्यक्तीयो ने समय का प्रबंधन करना सीखा है। वर्तमान समय में लोगो के पास इतना कार्य होता है कि उन्हे ध्यान रख पाना भी मुश्किल होता है की किस समय क्या कार्य करना है एसे में हमे रिमाईंडर का उपयोग करना चाहिये जैसे कि  कलेंडर, स्मार्ट फोन, दुसरे दिन की कार्य योजना को रात मे किसी डायरी में नोट करना। यदि हम इस तरह से रिमाईंडर का उपयोग करते है तो हमे अगले दिन कार्य करने मे असानी होगी। तथा हमे अपने कार्य को करने के  लिये किस प्रकार से समय का नियोजन करना चाहिये के बारे मे जानना चाहिये। दूसरो को कार्य सौपकर भी समय बचाया जा सकता है, जरूरी नही है कि ऐसे सभी कार्य जो हम दूसरो से करा सकते है उसे हम ही करे। बहुत से कार्य एसे होते है जिसे हम दुसरो से करा सकते है जैसे की बिलो का भुगतान करना, मार्केट से कुछ लाना और भी एसे काफी कार्य है जो कि हम दुसरो से करा सकते है। हमे अपना समय बचाने के लिये स्टॉप लॉस का उपयोग करना चाहिये। जैसे शेयर मार्केट में अपना लॉस कम करने के लिये लोग स्टॉप लॉस का उपयोग किया करते है उसी तरह हमे अपना समय बचाने के लिये समय पर स्टॉप लॉस का उपयोग करना चाहिये अर्थात यदि हम किसी से मिलने के लिये इंतजार कर रहे है और आपसे मिलने वाला व्यक्ति कहता है कि बस 5 मिनिट या बस 10 मिनिट और तो आप उसे कह सकते है कि मैं सिर्फ 5 मिनिट इंतजार करूंगा और जब 5 मिनिट पूरे हो जाये तो आप वहा से जा सकते है। ऐसा करने से मिल्ने वाला व्यक्ति अगली बार से आपसे समय से मिलेगा। समय नियोजन के बहुत से तारीके से जिन्हे जानकर हमे सिर्फ उनका उपयोग अपने जीवन में करना चाहिये। जब आप उन तरीको को उपयोग करेंगे तो जल्द ही आपको समझ मे आयेगा कि आप अपने समय का कितना बेहतर उपयोग करने लगे है। नीचे कुछ पुस्तको के लिंक दिये है मैने आप उनको पढकर यह जान सकते है कि हमे अपने का नियोजन किस प्रकार करना चाहिये। समय नियोजन कैसे करना चाहिये जानने के लिये आपको नीचे दी गई पुस्तको मे से कम से कम एक पुस्तक अवश्य पढनी चाहिये।

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *